बुधवार, अप्रैल 17, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमताजा खबरउत्तर प्रदेश2021 एवं 2022 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के 18 प्रशिक्षु अधिकारियों...

2021 एवं 2022 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के 18 प्रशिक्षु अधिकारियों ने मुख्य सचिव से की शिष्टाचार भेंट ।न्यूज ऑफ़ इंडिया ( एजेन्सी)

दिनांक: 03 जनवरी, 2024

न्यूज़ समय तक लखनऊ। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र से वर्ष 2021 एवं 2022 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के 18 प्रशिक्षु अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट की।
अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के नेतृत्व में कानून व्यवस्था बेहतर है। उत्तर प्रदेश में भयमुक्त वातावरण है। उत्तर प्रदेश को प्रगति और विकास के पथ पर अग्रसर करना आप सभी का संवैधानिक कर्तव्य और नैतिक दायित्व हैं।
उन्होंने कहा कि बेहतर पुलिसिंग के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना होगा। पुलिस को अपने कर्मचारियों को बेहतर माहौल देने, अपनी छवि सुधारने और अच्छी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए स्मार्ट पुलिसिंग पर विशेष तौर पर ध्यान देने की जरुरत है। आपकी ताकत आपका व्यवहार है।
उन्होंने कहा कि आज पूरे हिन्दुस्तान में डिजिटल ट्रांजेक्शन तेजी से हो रहा है, लेकिन साथ ही साइबर अपराध का ग्राफ भी तेजी से बढ़ रहा है। तकनीक के दुरुपयोग से अपराध की प्रकृति बदली है। प्रदेश में साइबर क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए हर स्तर पर सतर्कता बरती जा रही है। साइबर अपराधों से बचाव के लिए जागरूकता बहुत जरुरी है। प्रदेश के सभी जलिों में साइबर क्राइम थाना खोले जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मान० प्रधानमंत्री जी ने भारत को 2047 तक विकसित राष्ट्र बनाने का संकल्प लिया है, इसमें आपका महत्वपूर्ण योगदान होगा। उन्होंने प्रशिक्षु अधिकारियों को अपनी फिजीकल फिटनेस बनाये रखने के लिए खेल गतिविधियों से जुड़े रहने और पब्लिक सम्पर्क बनाये रखने और जरूरतमंद लोगों की सहायता करने जैसी सलाह भी बातचीत के दौरान दी।
बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण तिलोतमा वर्मा, सचिव गृह राजा मौली, डीआईजी शफीक अहमद समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments

ए .के. पाण्डेय (जनसेवक )प्रदेश महा सचिव भारतीय प्रधान संगठन उत्तर भारप्रदेश पर महंत गणेश दास ने भाजपा समर्थकों पर अखंड भारत के नागरिकों को तोड़ने का लगाया आरोप