शनिवार, मई 25, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमअपराधसहारनपुरशोभित विश्वविद्यालय गंगोह में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का...

शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन

न्यूज़ समय तक

👉 मानसिकता न्यूज़

👉 शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन

👉 गगोंह सहारनपुर

शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में आज स्कूल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड साइंसेज, स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, स्कूल ऑफ बायोमेडिकल एवं स्कूल ऑफ एग्रीकल्चर द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रतिवर्ष इस दिन को प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक सर चंद्रशेखर वेंकट रमन के द्वारा की गई खोज “रमन इफेक्ट” के कारण मनाया जाता है, जिसके लिए उन्हें साल 1930 में नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का मूल उद्देश्य विद्यार्थियों को विज्ञान के प्रति आकर्षित व प्रेरित करना तथा जनसाधारण को विज्ञान एवं वैज्ञानिक उपलब्धियों के प्रति सजग बनाना होता है। इस वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की थीम “विकसित भारत के लिए भारतीय स्वदेशी प्रौद्योगिकी” रही हैं।
कार्यक्रम का शुभारंभ पुरे विधि विधान से आमंत्रित मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, सहारनपुर, शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं कार्यक्रम में उपस्थित अन्य शिक्षकगण ने मां सरस्वती एवं बाबू विजेंद्र जी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन कर किया।
कार्यक्रम की शुरुआत प्रो.डॉ. जसवीर सिंह राणा ने मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं अनेक स्कूलों से आये सभी छात्र एवं छात्राओं का स्वागत कर की। तत्पश्चात यूटीडीसी कोर्डिनेटर डॉ. नवीन कुमार ने सभी को विज्ञान दिवस के महत्त्व एवं देश के विकास के लिए वैज्ञानिक सोच के प्रभाव की जानकारी दी।
इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आमंत्रित मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, ने छात्र एवं छात्राओं को जीवन जीने की कला तथा सफल होने का अपना अनुभव व छात्रों को वैज्ञानिक उपलब्धियों की जानकारी साझा की शोभित विश्वविद्यालय गंगोह एवं नामदेव पब्लिक स्कूल के बहुत से छात्र एवं छात्राओं ने वैज्ञानिक कलाओं के द्वारा विभिन्न गतिविधियाँ जैसे: पोस्टर प्रस्तुति, मौखिक प्रस्तुति एवं मॉडल प्रर्दशनी मे भाग लिया। जिसमे छात्र एवं छात्राओं ने बायो गैस प्लांट, ऑटोमैटिक फ्लोर क्लेयनीर, स्मार्ट एडमिशन सीस्टम आदि का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम 500 से अधिक छात्र एवं छात्राओं ने प्रतिभाग लिया।
इस अवसर पर शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह ने सर्वप्रथम कार्यक्रम के आयोजकों को अनेक शुभकामनाएं दी और अपने उद्धबोधन में कहा कि छात्रों को इस प्रकार के महत्त्वपूर्ण आयोजनों से विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति समाज में जागरूकता लाने और वैज्ञानिक सोच पैदा करने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा की हम सब जानते है कि आज की तारीख में हो रहे विकास, विज्ञान के कारण ही संभव हो पाते है।
कार्यक्रम में संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर ने भी सभी छात्र एवं छात्राओं को विज्ञान के माध्यम से आज विश्व में हो रहे अविष्कारों की जानकारी से लाभान्वित किया। इस अवसर पर कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह एवं संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर ने विजेताओं को मैडल, शील्ड एवं प्रमाण पत्र देकर समान्नित किया।
कार्यक्रम के अंत में नितिन कुमार ने कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं कार्यक्रम में उपस्थित सभी का धन्यवाद एवं आभार प्रेषित किया तत्पश्चात असिस्टेंट प्रोफेसर शोएब हुसैन ने कार्यक्रम की रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.डॉ. रंजीत सिंह ने अपने शुभकामना सन्देश में कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए शुभकामना प्रेषित की।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के अन्य शिक्षकगण, प्रो.(डॉ.) तरुण शर्मा, प्रो.(डॉ.) प्रशांत कुमार ,प्रो.(डॉ.) आरिफ नसीर, कुलदीप चौहान, मुकेश गौतम, अनिल जोशी, महेंद्र कुमार, मो० अहमद, कामना शर्मा, यशपाल मलिक, नितिन कुमार, रितु शर्मा, अजय शर्मा, तनवीर, अब्दुल्ला, सुमित आदि शिक्षकगण उपस्थित थे।

गगोंह सहारनपुर

शोभित विश्वविद्यालय गंगोह में आज स्कूल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड साइंसेज, स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, स्कूल ऑफ बायोमेडिकल एवं स्कूल ऑफ एग्रीकल्चर द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रतिवर्ष इस दिन को प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक सर चंद्रशेखर वेंकट रमन के द्वारा की गई खोज “रमन इफेक्ट” के कारण मनाया जाता है, जिसके लिए उन्हें साल 1930 में नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का मूल उद्देश्य विद्यार्थियों को विज्ञान के प्रति आकर्षित व प्रेरित करना तथा जनसाधारण को विज्ञान एवं वैज्ञानिक उपलब्धियों के प्रति सजग बनाना होता है। इस वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की थीम “विकसित भारत के लिए भारतीय स्वदेशी प्रौद्योगिकी” रही हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ पुरे विधि विधान से आमंत्रित मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, सहारनपुर, शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं कार्यक्रम में उपस्थित अन्य शिक्षकगण ने मां सरस्वती एवं बाबू विजेंद्र जी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन कर किया। कार्यक्रम की शुरुआत प्रो.डॉ. जसवीर सिंह राणा ने मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं अनेक स्कूलों से आये सभी छात्र एवं छात्राओं का स्वागत कर की। तत्पश्चात यूटीडीसी कोर्डिनेटर डॉ. नवीन कुमार ने सभी को विज्ञान दिवस के महत्त्व एवं देश के विकास के लिए वैज्ञानिक सोच के प्रभाव की जानकारी दी। इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आमंत्रित मुख्य अतिथि संगीता राघव एस.डी.एम. नकुड़, ने छात्र एवं छात्राओं को जीवन जीने की कला तथा सफल होने का अपना अनुभव व छात्रों को वैज्ञानिक उपलब्धियों की जानकारी साझा की शोभित विश्वविद्यालय गंगोह एवं नामदेव पब्लिक स्कूल के बहुत से छात्र एवं छात्राओं ने वैज्ञानिक कलाओं के द्वारा विभिन्न गतिविधियाँ जैसे: पोस्टर प्रस्तुति, मौखिक प्रस्तुति एवं मॉडल प्रर्दशनी मे भाग लिया। जिसमे छात्र एवं छात्राओं ने बायो गैस प्लांट, ऑटोमैटिक फ्लोर क्लेयनीर, स्मार्ट एडमिशन सीस्टम आदि का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम 500 से अधिक छात्र एवं छात्राओं ने प्रतिभाग लिया। इस अवसर पर शोभित विश्वविद्यालय गंगोह के कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह ने सर्वप्रथम कार्यक्रम के आयोजकों को अनेक शुभकामनाएं दी और अपने उद्धबोधन में कहा कि छात्रों को इस प्रकार के महत्त्वपूर्ण आयोजनों से विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति समाज में जागरूकता लाने और वैज्ञानिक सोच पैदा करने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा की हम सब जानते है कि आज की तारीख में हो रहे विकास, विज्ञान के कारण ही संभव हो पाते है।कार्यक्रम में संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर ने भी सभी छात्र एवं छात्राओं को विज्ञान के माध्यम से आज विश्व में हो रहे अविष्कारों की जानकारी से लाभान्वित किया। इस अवसर पर कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह एवं संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर ने विजेताओं को मैडल, शील्ड एवं प्रमाण पत्र देकर समान्नित किया।कार्यक्रम के अंत में नितिन कुमार ने कुलसचिव प्रो.डॉ. महिपाल सिंह, संस्था के केयर टेकर सूफी ज़हीर अख्तर एवं कार्यक्रम में उपस्थित सभी का धन्यवाद एवं आभार प्रेषित किया तत्पश्चात असिस्टेंट प्रोफेसर शोएब हुसैन ने कार्यक्रम की रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.डॉ. रंजीत सिंह ने अपने शुभकामना सन्देश में कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए शुभकामना प्रेषित की। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के अन्य शिक्षकगण, प्रो.(डॉ.) तरुण शर्मा, प्रो.(डॉ.) प्रशांत कुमार ,प्रो.(डॉ.) आरिफ नसीर, कुलदीप चौहान, मुकेश गौतम, अनिल जोशी, महेंद्र कुमार, मो० अहमद, कामना शर्मा, यशपाल मलिक, नितिन कुमार, रितु शर्मा, अजय शर्मा, तनवीर, अब्दुल्ला, सुमित आदि शिक्षकगण उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments

ए .के. पाण्डेय (जनसेवक )प्रदेश महा सचिव भारतीय प्रधान संगठन उत्तर भारप्रदेश पर महंत गणेश दास ने भाजपा समर्थकों पर अखंड भारत के नागरिकों को तोड़ने का लगाया आरोप