मंगलवार, जून 18, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमKanpurमुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं से की वार्ता।

मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं से की वार्ता।

न्यूज समय तक

मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं से की वार्ता, प्रशिक्षण के सम्बन्ध में ली जानकारी।

यहां से प्रशिक्षण प्राप्त कर आप अपने घर परिवार का मजबूत सहारा बनेंः मुख्य विकास अधिकारी।

कानपुर देहात मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय ने अकबरपुर ब्लाक में आलमचन्दपुर में स्थित बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान (आरसेटी) में जाकर प्रशिक्षण प्राप्त कर रही समूह की महिलाओं से उनके प्रशिक्षण के सम्बन्ध में जानकारी ली।मुख्य विकास अधिकारी ने इस प्रशिक्षण केन्द्र का निरीक्षण किया। इस निरीक्षण के दौरान उन्होंने ब्यूटी पार्लर कोर्स एवं टेलरिंग का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहीं महिलाओं से भेंट की, प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं में कुछ महिलाएं ऐसी थी जो कि स्वयं का ब्यूटी पार्लर खोलने जा रही है महिलाओं के इस कौशल को देखकर मुख्य विकास अधिकारी अत्यन्त गदगद नजर आयीं उन्होंने इसके लिए महिलाओं की भूरि-भूरि प्रशंसा की।इन महिलाओं में उन्होंने विशेष रूप से उन महिलाओं की प्रशंसा की जो कि अपने छोटे छोटे बच्चों के साथ विपरीत परिस्थितियां होने के बावजूद प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है उन्होंने महिलाओं से कहा कि आप सभी ने अपने आप को इस प्रशिक्षण के तैयार किया और इस बात के लिए भी पूरे तरीके से तैयार दिखीं कि इस प्रशिक्षण से प्राप्त कौशल का उपयोग वो अपने जीवन और अपने परिवार की स्थितियों को सुधारने के लिए करेंगीं। मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहीं महिलाओं ने गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। गोपाल कृष्ण जो यहां के आरसीटी डायरेक्टर हैं उन्होंने बताया कि यहां पर हम महिलाओं को आर्थिक और मानसिक दोनों रूप से मजबूत बनाते हैं जिससे उन्हें जीवन के किसी भी क्षेत्र में परेशानियों का सामना न करना पड़े। इन महिलाओं को ब्यूटी पार्लर प्रशिक्षण का कार्य विनीता अग्रवाल एवं टेलरिंग प्रशिक्षण का कार्य पुनीता यादव द्वारा दिया जा रहा है ।इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं से कहा कि मैं चाहती हूँ कि यहां से प्रशिक्षण प्राप्त कर आप अपने घर परिवार का मजबूत सहारा बनें, नारी की आप के द्वारा पहचान सशक्त नारी के रूप में हो सके ईश्वर ने हमें नारी के रूप में पैदा किया है जिनकी भूमिकायें अनेक हैं हमें यह सिद्ध करना है कि महिलायें किसी भी हालत में पुरूषों से कम नहीं हैं। बेटियों को पढ़ने का मौका दें जिससे वो समाज में अबला के रूप में नहीं अपितु शक्ति के प्रतीक के रूप में जानी जायें। छोटे-छोटे कुटीर उद्योगों को संचालित करके हम अपनी आर्थिक आत्मनिर्भरता को बढ़ा सकते हैं। समाज की प्रताड़ना से बचने का एक ही तरीका है आत्मनिर्भरता। वास्तव में आप यहां तक घर की चहर दिवारी से निकल कर आयीं है यह आपकी अपने प्रति सकारात्मक सोच को प्रदर्शित करता है। जबकि इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी ने कहा कि आपके द्वारा निर्मित उत्पाद गुणवत्तापूर्ण हैं बस जरूरत है इन उत्पादों को व्यापकता प्रदान करने की। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं के साथ खड़े होकर सामूहिक फोटोग्राफी भी करायी। उन्होंने महिलाओं से कहा कि उनको जब भी मेरी जरूरत हो तो मुझसे आकर व्यक्तिगत रूप से मिल सकती हैं। उनके इस आश्वासन पर महिलायें प्रेरित और प्रफुल्लित नजर आयीं। मुख्य विकास अधिकारी ने सभी महिलाओं को प्रेरित किया कि प्रशिक्षण कार्य को गहनता से प्राप्त करें जिससे उनकी आय बढ़ सके। साथ ही उनके अन्य उत्पादों को भी बाजार से जोड़ने की बात कही।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments