शनिवार, अप्रैल 20, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमअनोखामाता पिता की सेवा असली भक्ति है : पं. शिवा कांत महाराज

माता पिता की सेवा असली भक्ति है : पं. शिवा कांत महाराज

माता पिता की सेवा असली भक्ति है : पं. शिवा कांत महाराज हिंदुओं को शास्त्र के साथ शस्त्र का भी ज्ञान जरूरी हिंदुओं को एक जुट रहना जरूरी धर्म व जाति के आधार पर ना बांटें गजरौला जीवन की पहली गुरु मां होती है। माता पिता की सेवा करने वाला कभी दुखी नहीं रह सकता। यह कहना है अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक पंडित शिवाकांत जी महाराज के द्वारा अमरोहा जिला गजरौला के नार्दन इंडिया पब्लिक स्कूल में श्री मद भागवत महापुराण की कथा के प्रथम दिन में बताया कि मनुष्य में ज्ञान और भक्ति दोनों का ही समावेश जरुरी है क्योंकि बिना ज्ञान के भक्ति अंधी और बिना भक्ति के ज्ञान लगड़ा माना गया है इस लिए मनुष्य में दोनों का ही होना जरुरी है महाराज जी ने कहा कि कभी भी माता पिता का दिल नहीं दुखाना चाहिए आपके सच्चे भगवान माता पिता हैँ अब वह समय आगया है जब हिन्दुओ को शास्त्र के साथ सस्त्र का भी ज्ञान होना चाहिए और हिन्दुओ को एकजुट होना चाहिए जाति और धर्म में नहीं बटना चाहिए क्योंकि सबका धर्म एक ही है जो सनातन है कथा के प्रधान यजमान राकेश मोहन गर्ग समेत कई गणमान्य लोगों ने पूजन किया कथा में विशाल सनातन शोभा यात्रा निकाली गई

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments

ए .के. पाण्डेय (जनसेवक )प्रदेश महा सचिव भारतीय प्रधान संगठन उत्तर भारप्रदेश पर महंत गणेश दास ने भाजपा समर्थकों पर अखंड भारत के नागरिकों को तोड़ने का लगाया आरोप