रविवार, जून 23, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमउत्तर प्रदेशफतेहपुरनहीं थम रहा थरियाँव पुलिस के वसूली का सिल - सिला जनता...

नहीं थम रहा थरियाँव पुलिस के वसूली का सिल – सिला जनता परेशान-सूत्र

नहीं थम रहा थरियाँव पुलिस के वसूली का सिल – सिला जनता परेशान-सूत्र

यशकरन एस,एस,आई व प्रदीप यादव सिपाही पर एक युवक ने लगाया वसूली का आरोप

श्रीराम अग्निहोत्री न्यूज़ समय तक ब्यूरो फतेहपुर

फतेहपुर इन दिनों थरियांव पुलिस वसूली को लेकर खूब सुर्खियों में है। एक तरफ योगी सरकार चुस्त दुरुस्त पुलिसिंग व्यवस्था को लेकर थाने को सीसीटीवी कैमरे से लैस कर रही है तो दूसरी तरफ थानेदार अपराधियों से साठ – गांठ कर वसूली की चर्चा आम मुखर बिंदुओं में व्याप्त हो गई है। थरियाव वैसे भी पूर्व में भी पशु तस्करी को लेकर जिले में प्रथम स्थान हासिल कर चुका है। जिस पर बड़ी कार्रवाई होने पर बड़ा दाग लग चुका है। जो किसी आईपीएस के छूटने से नहीं छूट रहा है। पूर्व कप्तान और थरियाव थानेदार की जुगलबंदी की कहानी इन दिनों थरियाँव में पूरी तरह से देखने को आपको मिल रही है। थानेदार प्रवीण कुमार सिंह के तैनात होते ही पूरी टीम को थरियाँव में लाकर मानो ऐसा लग रहा था कि जैसे क्षेत्र में अमन- चैन हो जाएगा। अपराध मुक्त थाना बन जाएगा इस टीम में शामिल एस. एस. आई . यशकरन सिंह, एस . आई . बृजेश यादव, कांस्टेबल अजीत यादव, कांस्टेबल प्रदीप यादव, एक गंगवार पुलिस कर्मी के रूप में पूरे क्षेत्र में वसूली को लेकर सुर्खियां बटोर रहे हैं।?

 कैमरा के सामने थरियांव पुलिस पर आरोप लगाता हुआ यह युवक जो विद्युत विभाग का लाइनमैन राजन निवासी औरई थाना थरियाँव ने बताया कि जिससे प्रदीप यादव और यशकरन दरोगा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। जिससे वसूली को लेकर चार दिनों से बराबर धमकाया जा रहा है और ₹15000 न देने पर जेल भेज देने की धमकी दी जा रही है  हालांकि थरियाँव पुलिस के जांबाज थानेदार ने ऐसे ही वसूली न होने पर बेगुनाह  नौजवानों को तमंचा, गाँजा या सुतली बम लगाकर जेल भेज चुके हैं। हालांकि कैमरा के सामने युवक का बयान देने के बाद  यदि अधिकारियों ने संज्ञान नहीं लिया तो इन्हें भी पुलिसिया शिकार होना पड़ेगा। देखना यह होगा कि इस वीडियो के आधार पर संबंधित अधिकारी इन कर्मचारियों पर कार्रवाई करेंगे या इन्हें लूट करने की छूट दे देंगे। हालांकि पूर्व कप्तान यश करण सिंह की ट्रांसफर गस्ती जारी किया था मगर गणेश परिक्रमा के चलते यश करण सिंह आज तक वहां की रावनगी  नहीं बनवाईं ऐसे में सवाल बहुत कुछ है मगर पुलिस के पास कोई जवाब नहीं होता सीधा कह देते हैं कि यह आरोप निराधार है।?वहीं उक्त मामले पर कमलेश कुमार पुत्र रामसजीवन,रमेश चंद्र यादव पुत्र जशवंत सिंह,रिशु तिवारी पुत्र दिनेश तिवारी,सुरेश पासवान पुत्र जगतू पासवान ने बयान देते हुए बताया कि रोहित पुत्र रामसुहावन मंदबुद्धि का है इसलिए आए दिन लड़ाई झगडे होते रहते हैं। वहीं जब उक्त मामले और एसआई पर पैसा मांगे जाने को लेकर लगाए जा रहे आरोपों के बारे में संबंधित थाना थरियांव के हल्का इंचार्ज यश करन से दूरभाष के जरिए जानकारी प्राप्त की तो उन्होंने बताया कि पैसा मांगे जाने का आरोप निराधार है और उस मामले पर जांच चल रही है।।
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments