रविवार, जुलाई 14, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमताजा खबरनगर विकास मंत्री ने सभी निकायों में 14 से 21 जनवरी तक...

नगर विकास मंत्री ने सभी निकायों में 14 से 21 जनवरी तक सफाई का महाअभियान चलाने के दिए निर्देश

न्यूज ऑफ़ इंडिया (एजेन्सी)

न्यूज़ समय तक लखनऊ: 13 जनवरी, 2024

प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए.के. शर्मा ने श्री अयोध्या धाम में पुरुषोत्तम भगवान श्री राम मंदिर का आगामी 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा के दृष्टिगत प्रदेश के सभी नगरीय निकायों को साफ सुथरा व कचरा मुक्त बनाकर सुंदर बनाने के लिए 14 जनवरी से 21 जनवरी, 2024 तक एक सप्ताह का साफ सफाई, स्वच्छता व सुशोभन का विशेष महाअभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान सभी निकायों में स्थित धार्मिक, आध्यात्मिक व तीर्थ स्थलों, ऐतिहासिक व पर्यटक स्थलों, पवित्र नदी घाटों एवं सार्वजनिक स्थलों पर विशेष साफ सफाई, स्वच्छता एवं सुशोभन का कार्य किया जाएगा, जिससे की प्राण प्रतिष्ठा के दिन सत्यम, शिवम्, सुंदरम की अवधारणा पर नागरिकों को खासतौर से शुद्धता, सुंदरता व स्वच्छता के माहौल का अलग ही अनुभव हो। इसके लिए 14 से 21 जनवरी तक एक सप्ताह का स्वच्छ तीरथ,क्लीन सिटी एवम् प्लास्टिक फ्री सिटी अभियान सभी निकायों में चलाया जाएगा।
नगर विकास मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का स्वच्छता पर सबसे अधिक जोर है, बगैर साफ़ सफ़ाई और स्वच्छता के विकास व स्वास्थ्य की कल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि सफाई अभियान के दौरान प्रधानमंत्री की मंशानुरूप ही सभी धार्मिक स्थलों और उसके आसपास के क्षेत्र में साफ सफाई कराई जाएगी। इस दौरान मंदिर के ट्रस्ट और मैनेजमेंट पदाधिकारी तथा आमजान व स्वयं सहायता समूह के सहयोग एवं भागीदारी से सफाई व सुशोभन का कार्य सुनिश्चित कराया जाएगा तथा स्वच्छ भारत मिशन के मानकों के अनुरूप ही कूड़े कचरा का निस्तारण किया जाएगा तथा मंदिरों, पूजा स्थलों से निकले फूल आदि का रीसाइकल कर उपयोगी प्रोडक्ट भी बनाया जाएगा। सार्वजनिक शौचायलयों, गार्बेज पॉइंट की सफाई पर तथा सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम पर भी ध्यान दिया जाएगा। स्वच्छता की 03 आर प्रणाली रिड्यूस, रियूज, रिसाइकिल कॉन्सेप्ट पर कार्य किया जाएगा। नागरिकों को भी इसके लिए जागरूक किया जाएगा।

मंत्री शर्मा ने कहा कि सफाई महा अभियान में सभी निकाय अपने क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों का भी सहयोग लेने का प्रयास करेंगे। साथ ही स्वयं सहायता समूह, सारथी क्लब के सदस्यों, ब्रांड एंबेसडर के माध्यम से भी जन जागरूकता रैली निकाली जाए और स्वच्छता कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएं। प्लास्टिक निषेध के लिए सभी धार्मिक एवं पर्यटक स्थलों व सार्वजनिक स्थलों के आसपास नो प्लास्टिक बैग क्षेत्र भी विकसित किए जाएं। लोगों को प्लास्टिक का प्रयोग न करने के लिए भी जागरूक करें, प्लास्टिक की बोतल, थैली, प्लेट, गिलास, कप,चम्मच को रिसाइकल करने की भी व्यवस्था की जाए। स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए व्यापक प्रचार प्रसार हेतु प्लॉग रन, मैराथन एवं मशाल मार्च आदि का भी आयोजन कराया जाए। अभियान की निगरानी के लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाए, डी ट्रिपल सी के माध्यम से तथा टोल फ्री नंबर 1533 से भी कार्यों की मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की मंशानुरूप ही स्वच्छ भारत बनाने के उनके संकल्प को आगे बढ़ाने के लिए हम सबको पूरी ईमानदारी एवं मेहनत व लगन के साथ कार्य करना होगा, जिससे कि हम प्रदेश को स्वच्छता मानक में उच्चतम स्तर पर ले जा सके और प्रदेश के सभी शहरों व निकायों को सफाई के सभी मापदंडों पर खरा उतार सके।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments