रविवार, जुलाई 14, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमअनोखातीन दिन पहले चोरी हुई बच्चा को बरामद किया ,और जीआरपी परिसर...

तीन दिन पहले चोरी हुई बच्चा को बरामद किया ,और जीआरपी परिसर में मां को बुलाकर उसे सौंप दिया

न्यूज़ समय तक चन्दौली

तीन दिन पहले चोरी हुई बच्चा को बरामद किया ,और जीआरपी परिसर में मां को बुलाकर उसे सौंप दिया
चंदौली: जिले की पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे जंक्शन की राजकीय रेलवे पुलिस ने गुड वर्क करते हुए 3 दिन पहले चोरी हुई बच्चा को बरामद कर लिया है और जीआरपी परिसर में मां को बुलाकर उसे सौंप दिया है। बताया जा रहा है कि इस दौरान पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाली महिला को भी गिरफ्तार कर लिया है।पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन से रविवार की रात चोरी गए दो वर्ष के बच्चे को जीआरपी और आरपीएफ की संयुक्त टीम ने चंदौली मझवार रेलवे स्टेशन से बरामद कर लिया। बच्चा चोरी करने वाली महिला को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। जन्माष्टमी के दिन गायब बच्चे को वापस पाकर मां की आंखों से खुशी के आंसू छलक आए। जीआरपी आरोपी महिला का चालान कर आगे की कार्रवाई में जुटी है। हालांकि 29 अगस्त को चोरी गए मासूम का अभी पता नहीं चला है। जीआरपी उसकी भी तलाश कर रही है।मामले की जानकारी देते हुए जीआरपी के प्रभारी निरीक्षक सुरेश कुमार सिंह ने बताया कि तीन सितंबर की रात रेलवे स्टेशन के यात्री हाल से बिहार के औरंगाबाद के फेसर थाना के जमालपुर गांव निवासी रीना सिंह पत्नी नवीन सिंह का दो वर्षीय बेटा समर सिंह चोरी हो गया था। नवीन की तहरीर पर बच्चा चोरी का मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी गई। बच्चे की तलाश के लिए उनके और आरपीएफ निरीक्षक प्रदीप कुमार रावत की देखरेख में विवेचक प्रवेश कुमार सिंह के नेतृत्व में जीआरपी और आरपीएफ व आरपीएफ की स्पेशल कोर की टीम गठित की गई थी।रेलवे परिसरा के सर्विलांस और सीसीटीवी कैमरे की मदद से पता चला कि महिला के साथ आई दूसरी महिला ने बच्चा चोरी किया है। इसके बाद उसकी तलाश शुरू कर दी गई। बुधवार को सूचना मिली कि आरोपी महिला बच्चे के साथ चंदौली मझवार स्टेशन पर बैठी है। वह बच्चे को कहीं और ले जाने की फिराक में है। इस सूचना पर टीम ने पहुंच कर महिला को गिरफ्तार कर लिया और बच्चे को कब्जे में ले लिया।गिरफ्तार महिला का नाम सविता है और वह महावीरगंज अंबा थाना जिला औरंगाबाद की रहने वाली है। मामले में उसका चालान किया जा रहा है। गायब होने के चौथे दिन बालक की बरामदगी से मां रीना सिंह खुशी से फूले नहीं समा रही हैं। बच्चा चोरी करने वाली गिरफ्तार सविता ने बताया कि वह बच्चा चोरी कर उसे बेचने की फिराक में थी। बताया कि वह रफीगंज से पीडीडीयू जंक्शन आने वाली पैसेंजर ट्रेन में सवार हुई। उसमें पहले से बेटे के साथ बैठी महिला से दोस्ती की। धीरे धीरे बातों में उसे अपने साथ ले लिया। चौबीस घंटे उसके साथ रही। जब उसने मुझ पर पूरा विश्वास कर लिया, तब यात्री हाल में महिला को कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर अचेत कर दिया। इसके बाद आराम से बेटे को लेकर चली गई।मामले में जीआरपी निरीक्षक सुरेश कुमार सिंह ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में बच्चा ले जाते हुए महिला दिखी थी। उसके आधार पर जांच पड़ताल की जा रही थी। बताया कि पूछताछ कर बच्चा चोरी की घटनाओं के बारे में और अधिक पता लगाया जा रहा है। एक बच्चा है गायब, नहीं लगा सुराग भले एक बच्चा चोरी की तीन दिन के भीतर बच्चे को बरामद कर जीआरपी और पूरी टीम पीठ थपथपा रही है लेकिन 29 अगस्त को चोरी गए नौ माह के मासूम का अभी तक पता नहीं चला है। बेटे को पाकर एक मां की आंखों से खुशी के आंसू छलक आए तो बेटे को न पाकर दूसरी महिला दिन रात आंसू बहा रही है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments