रविवार, जून 23, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमबिहारबिहारटीम बनाकर वीएचएसएनडी सत्र स्थल का निरीक्षण।

टीम बनाकर वीएचएसएनडी सत्र स्थल का निरीक्षण।

न्यूज समय तक

चयनित प्रखंड में विशेष रूप से संचालित वीएचएसएनडी सत्र पर दी जाने वाली सुविधाओं का लिया गया जायज़ा: विभिन्न सत्र स्थलों पर विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं, किशोरियों सहित अतिकुपोषित बच्चों का किया गया जांच: सिविल सर्जन अलग-अलग टीम बनाकर किया गया वीएचएसएनडी सत्र स्थल का निरीक्षण।

पूर्णिया, 20 अप्रैल।राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह द्वारा दिए गए आवश्यक दिशा-निर्देश के आलोक में जिले के कृत्यानंद नगर (के नगर) में संचालित कार्यक्रमों के सफल एवं सुचारू रूप से संचालन को लेकर सभी स्तर पर टीम गठित कर सघन अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी ने सी सैम प्रबंधन के तहत मॉडल प्रखंड के नगर के गोकुलपुर पंचायत अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्र संख्या- 12 का औचक निरीक्षण किया। जहां विशेष रूप से गुरुवार के दिन आयोजित ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता और पोषण दिवस (वीएचएसएनडी) के अवसर पर पहुंची गर्भवती महिलाओ की प्रसव पूर्व जांच (एएनसी), प्रसव के बाद होने वाले पीएनसी, किशोरियों में एनीमिया की जांच, बच्चों के बीच अतिकुपोषित की जांच ख़ुद अपने सामने कराया। इस अवसर पर डीसीक्यूए डॉ अनिल कुमार शर्मा, यूनिसेफ के क्षेत्रीय सलाहकार शिव शेखर आनंद, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक निशि श्रीवास्तव, स्वास्थ्य प्रशिक्षक संजय कुमार, एएनएम मीनाक्षी कुमारी, सिफार के धर्मेंद्र रस्तोगी सहित संबंधित आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका, सहायिका एवं आशा कार्यकर्ता मौजूद थी।विभिन्न सत्र स्थलों पर विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं, किशोरियों सहित अतिकुपोषित बच्चों का किया गया जांच: सिविल सर्जनसिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी ने कहा कि वर्तमान में मातृ-शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा एवं सर्वेक्षण को लेकर प्रत्येक माह के बुधवार एवं शुक्रवार को राज्य के प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्रों में ग्रामीण एवं शहरी स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस मनाया जाता है। लेकिन इसके साथ ही के नगर में गुरुवार के दिन विभिन्न सत्र स्थलों पर विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं, किशोरियों सहित अतिकुपोषित बच्चों का जांच किया जाता है। जहां पर सभी तरह की व्यस्थाओं को सुनिश्चित किया गया है। समुदाय आधारित देखभाल को मजबूती प्रदान करने के लिए आरोग्य दिवस घर पर बच्चों की देखभाल एवं गृह भ्रमण में सेविका एवं आशा द्वारा दी जाने वाली परामर्श को मजबूत किया जाता है। इस कार्यक्रम के तहत सामुदायिक स्तर पर मोबिलाईजेशन एवं सभी बच्चों की पोषण स्थिति का आंकलन, चिकित्सीय जांच, भूख की जांच, अति गंभीर कुपोषित बच्चों के प्रबंधन के तरीके, दवाइयां, पोषण, स्वास्थ्य, शिक्षा के अलावा संवर्धन कार्यक्रम के दौरान पोषण की निगरानी, संवर्धन कार्यक्रम से छुट्टी देने के बाद फोलोअप करना शामिल है। अलग-अलग टीम बनाकर किया गया वीएचएसएनडी सत्र स्थल का निरीक्षण: डॉ अभय प्रकाश चौधरी सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी ने बताया कि महीनें के प्रत्येक गुरुवार के दिन स्वास्थ्य विभाग के द्वारा ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता और पोषण दिवस (वीएचएसएनडी) को आरंभिक परियोजना (पायलट प्रोजेक्ट) के तहत दी जाने वाली स्वास्थ्य एंव पोषण से संबंधित सेवाओं के अनुसार सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित किया गया है। वीएचएसएनडी सत्र स्थल को लेकर विभिन्न प्रकार की जांच किट एवं दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है। प्रसव पूर्व जांच (एएनसी) एवं प्रसव के बाद जांच (पीएनसी), मातृ एवं बाल संबंधित बीमारियों की जांच, परिवार नियोजन, पोषण एवं टीकाकरण सहित गैर संचारी रोग के तहत उच्च रक्तचाप एवं मधुमेह स्क्रीनिंग की सुविधा, ई-संजीवनी के माध्यम से टेलीमेडिसिन द्वारा चिकित्सीय परामर्श दिया जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत चयनित के नगर में जिला स्तरीय पर्यवेक्षीय पदाधिकारियों में डीपीएम, डीसीएम, डीआईओ, यूनिसेफ के एसएमसी, पोषण सलाहकार, चाय के प्रतिनिधि सहित कई अन्य अधिकारियों द्वारा अलग-अलग क्षेत्र भ्रमण किया गया।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments