गुरूवार, जून 13, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमKanpurजिलाधिकारी नेहा जैन ने प्राथमिक विद्यालय का किया औचक निरीक्षण ।

जिलाधिकारी नेहा जैन ने प्राथमिक विद्यालय का किया औचक निरीक्षण ।

न्यूज समय तक

विद्यालय में पंजीकरण बढ़ाते हुए छात्र-छात्राओं की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित की जाए।

छात्र छात्राओं को निपुण लक्ष्य के अनुरूप शिक्षा प्रदान की जाए।

शिक्षक किचन गार्डन के महत्व को समझें व उसका नियमित रखरखाव सुनिश्चित करें।

आंगनवाड़ी केंद्रों का संचालन नियमित रूप से निर्धारित समय अवधि में किया जाए।

कानपुर देहात प्रदेश के विद्यालयों का कायाकल्प तथा शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता पर आते हैं जिसके दृष्टिगत आज जिलाधिकारी नेहा जैन द्वारा प्राथमिक विद्यालय मिलकिन पुरवा तथा संविलियन उच्च प्राथमिक विद्यालय आलम चंदपुर व प्राथमिक विद्यालय आलमचंदपुर का औचक निरीक्षण किया। प्राथमिक विद्यालय मिलकिन पुरवा में निरीक्षण के दौरान छात्रों की उपस्थिति कम मिलने तथा पंजीकरण संबंधित कक्षाओं में मानक अनुरूप ना होने के दृष्टिगत उन्होंने शिक्षक को कड़ी फटकार लगाई तथा ग्राम में भ्रमण कर स्कूल ना जाने वाले बच्चों तथा अन्य प्राइवेट स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को शासन द्वारा दी जाने वाली शिक्षा तथा नई शिक्षा नीति के संबंध में जानकारी देते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में सभी को जागरूक करने तथा छात्र छात्राओं को पंजीकृत कर उनकी उपस्थिति शत-प्रतिशत सुनिश्चित किए जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। निरीक्षण में पाया गया कि प्राथमिक विद्यालय मिलकिनपुरवा में बने अतिरिक्त कक्ष में कक्षाएं संचालित थीं, जिसके संबंध में संबंधित प्रधानाचार्य द्वारा बताया गया कि प्राथमिक विद्यालय भवन पूर्ण रूप से जर्जर था तथा ध्वस्त किया जा चुका है जिसके उपरांत नई कक्षाओं के संचालन हेतु भवन का निर्माण पुनः किया जाना है जिस हेतु धनराशि आवंटित की जा चुकी है, जिस पर जिलाधिकारी ने तत्काल संबंधित कार्यदाई संस्था से प्रस्ताव तैयार कर भवन निर्माण कार्य प्रारंभ किए जाने के निर्देश दिए जिससे शिक्षा हेतु उचित माहौल तथा स्थान तैयार हो सके। उन्होंने रसोईघर में बने आज के भोजन की गुणवत्ता की जांच रखे हुए सैंपल को स्वयं खाकर देखा जिसमें भोजन की गुणवत्ता सही पाई गई। उन्होंने मौके पर रसोईया के उपस्थित न होने की दशा में नाराजगी व्यक्त की तथा आंगनवाड़ी कार्यकत्री के मौके पर ना होने तथा आंगनवाड़ी केंद्र का संचालन भी ना होते देख कठोर चेतावनी देते हुए केंद्र का संचालन नियमित रूप से संचालित किए जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने विद्यालय के अंदर ही लोहिया नगर वार्ड के अंतर्गत बने मतदान केंद्र का भी अवलोकन किया जिसमें मतदान केंद्र की जानकारी सूचना कक्ष के बाहर न लिखे जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की एवं ऐसे केंद्रों को जांच कर तत्काल सूचना प्रदर्शित किए जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने विद्यालय की कक्षा 3 की छात्रा गौरी व छात्र यश तथा कक्षा 4 के राज से ऊन का गोला नामक कविता चित्रण की पुस्तक के बोल सुने तथा बच्चों को और अच्छा अभ्यास कराए जाने के साथी कक्षा एक में छात्र-छात्राओं को पंजीकरण शत प्रतिशत कराए जाने हेतु संबंधित शिक्षक को निर्देशित किया।         तदोपरांत उन्होंने संविलियन उच्च प्राथमिक विद्यालय आलम चंदपुर का भी निरीक्षण किया जहां कक्षा में प्रवेश करते ही कक्षा 6 के छात्रों द्वारा बताया गया कि अभी तक कक्षा 6 में पुस्तके प्राप्त नहीं हुई है जिसमें पुष्टि करने पर यह तथ्य संज्ञान में आया कि पुस्तकों का वितरण तथा उसके संख्याओं में उचित मिलान ना होने से यह समस्या उत्पन्न हुई है जिसको शीघ्र सही कर लिया जाएगा निरीक्षण के दौरान एक ही शिक्षक जो कक्षा में पढ़ाते हुए मिले जिससे यह तथ्य भी संज्ञान में आया कि विद्यालय में शिक्षकों की कमी है। जिलाधिकारी ने शिक्षा की गुणवत्ता को जांचने हेतु स्वयं कक्षा में बैठकर शिक्षिका से बच्चों को दिए जाने वाले ज्ञान को देखा व गुणवत्ता का आकलन किया जिसमें बच्चों द्वारा स्वयं अभिरुचि लेकर पढ़ा जा रहा था जिससे यह स्पष्ट था कि शिक्षक द्वारा दी जाने वाली शिक्षा की गुणवत्ता संतोषजनक है। उन्होंने बच्चों में गणित की शिक्षा के स्तर को जानने के लिए बच्चों को बोर्ड पर गुणा के सवाल करने हेतु दिए जिसमें सभी बच्चों द्वारा अच्छा प्रदर्शन किया गया। इस दौरान के भीतर से संज्ञान में आया कि कल आयोजित होने वाले नवोदय विद्यालय के प्रवेश परीक्षा हेतु विद्यालय से कराये गए पंजीकरण के उपरांत भी अभी तक सभी बच्चों को प्रवेश पत्र प्राप्त नहीं हुआ है, जिस पर तत्काल जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सभी बच्चों तक शत प्रतिशत प्रवेश पत्र की उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने विद्यालय प्रांगण में पर्याप्त स्थान की उपलब्धता को देखते हुए फलदार वृक्ष रोपित किए जाने के साथ ही साफ सफाई व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने तथा किचन गार्डन तैयार किए जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने विद्यालय में यह भी पाया कि वहां उपस्थित फर्नीचर की गुणवत्ता सही नहीं थी जिसकी उन्होंने जांच कराए जाने तथा भुगतान ना किए जाने हेतु आवश्यक निर्देश दिए…

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments