गुरूवार, जून 13, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमKanpurगौ वंशों की कोई सुरक्षा गौ वंशों को खिला रहे सुखा पयार...

गौ वंशों की कोई सुरक्षा गौ वंशों को खिला रहे सुखा पयार हरा चारा खा रहे अधिकारी

शहर शहर हो रहा करोड़ का खर्चा, ठंड में नहीं है गौ वंशों की कोई सुरक्षा गौ वंशों को खिला रहे सुखा पयार हरा चारा खा रहे अधिकारी।अनेको गौवंशों को बंधक बनाने का मामला अभी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है।विशेष संवाददाता विनय प्रकाश मिश्रा कानपुर। नगर के कल ही एक मामले को संज्ञान में लेते हुए कई मीडिया संस्थानों ने मामले को चलाया और जिला प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे, पर अभी भी इन बंधक गोवंशों को ,वहां से सुरक्षित जगह पहुंचाने में कोई पहल न हो सकी और चार दिन से कोई व्यवस्था ना हो पाने के बाद ब्लॉक के अधिकारियों ने चारा पानी देने के नाम पर खाना पूर्ति करते हुए उन गौवंशों को केवल सूखा पयार डलवाना उचित समझा‌ जिसका वीडियो ब्लॉक के अधिकारियों द्वारा भेजा गया है, जिसमें कहा गया है कि उन बंधक गोवंशों को चारा पानी की पूरी व्यवस्था की जा रही है, पर इस वीडियो को देखकर आप सभी जान सकते हैं कि किस प्रकार का चारा पानी ,चार दिन से भूखे गोवंशों को दिया जा रहा है क्या यह उचित है, योगी जी के सपनों को उन्हीं के अधिकारी कर रहे हैं फेल बिठूर क्षेत्र के ग्राम गंभीरपुर कक्षार में खुले गौ वंशो से परेसान हो कर, ग्रामीणों ने अनेकों गौवंशों को बनाया बंधक तीन दिन बीतने पर भी, नहीं मिल सका बंधक गौवंशों को चारा पानी योगी सरकार की नीतियों को उन्ही के अधिकारी लगा रहे हैं पलीता।जहां पर सिंगपुर चौराहे से कुछ ही दूरी पर ग्राम गंभीरपुर,प्रेमपुर कछार में बने एक बड़े बाउंड्री वॉल फॉर्म में क्षेत्र की जनता ने कई गौवंशों को 2 दिन पहले बंधक बना लिया था। ग्रामीणों का ऐसा कहना है कि इन आवरा जानवरों से हमारी खेती का नुकसान हो रहा है ,जिस कारण से हम लोगों ने इनको यहां पर एकत्रित करके ब्लॉक में, बीडियो को जानकारी दी है ,पर इसमें अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है और अधिकारी मामले को संज्ञान में नहीं ले रहे हैं, गोवंशों को मुक्त करवाने के लिए भारतीय गौ रक्षा संघ के ग्रामीण जिला अध्यक्ष सुशील कुमार दुबे की अगुवाई में मंडल प्रमुख महंत आशुतोष गिरी जी महाराज के सानिध्य में जिला अध्यक्ष महेंद्र कुमार पांडेय सहित अनेकों संगठन के कार्यकर्ता एवं क्षेत्रवासियों के द्वारा प्रयास किया गया ,मामले को बढ़ता देख मौके पर पुलिस प्रशासन एवं बीडियो सहित अन्य अधिकारी भी पहुंचे। अधिकारियों के मौके पर पहुंचने के बाद भी मामले का कोई उचित निर्णय न लिया जा सका। अब सोचने वाली बात यह है की ,जहां एक तरफ योगी सरकार गौ सेवा को लेकर बड़े-बड़े दावे करती है, वहीं उन्हें के अधिकारी इन दावों को नकारने का काम करते नजर आ रहे हैं। जानकारी के लिए बताते चलें कि जिस फार्म में उन गोवंशों को छोड़ा गया है, इतनी कड़ाके की ठंड में, ना तो उसमें कोई छाया की व्यवस्था है और ना ही तीसरे दिन तक भोजन खाने के लिए उन्हें कुछ चारा पानी मिल पाया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments