रविवार, जून 23, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमKanpurगजनेर चौराहे से नहीं हटे अवैध आटो स्टैंड।

गजनेर चौराहे से नहीं हटे अवैध आटो स्टैंड।

न्यूज समय तक

अवैध आटो स्टैंड हटाने का अभियान की सीमा समाप्त पर गजनेर चौराहे से नहीं हटे स्टैंड।

कानपुर देहात….प्रदेश के मुख्यमंत्री भले ही आज १ अप्रैल से १५ अप्रैल तक अभियान चला कर मुख्य मार्गों और चौराहों से अवैध आटो स्टैंड हटवाने के शक्त निर्देश दे मार्ग दुर्घटना मुक्त करने के आदेश पर गजनेर थाना क्षेत्र के गजनेर रायपुर मार्ग के मुख्य चौराहे पर से गजनेर पुलिस अवैध आटो स्टैंड हटवा पाने मे असफल साबित हुई है। और आटो संचालको का दबदबा आज भी कायम है। जिससे वाहन चालकों को भीषण समस्या का सामना करना पडता है।वहीं महिलाओं छात्राओं के लिए मुसीबत बना है।

बताते चले कि शासन ने १ अप्रैल से १५ अप्रैल तक मार्गों पर अतिक्रमण और मुख्य चौराहे पर संचालित अवैध आटो स्टैंड हटाने का अभियान चलाया गया था और उसकी समय सीमा भी समाप्त हो गई पर गजनेर था पर मुख्य चौराहे पर गजनेर रायपुर मार्ग पर आज भी अवैध आटो स्टैंड संचालित हो रहा है। और आज इस अभियान का गजनेर सरवनखेड़ा मे कोई असर नहीं पडा है।जब कि आटो स्टैंड संचालकों के सामने गजनेर पुलिस बे असर साबित हो रही है। हला कि प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी ने मार्ग दुर्घटनाओं से बचने के लिए बाधा बने अवैध आटो स्टैंड बस स्टैंड आदि को हटवाने के निर्देश दिए थे और आज से अभियान भी चलाने के निर्देश दिए गए थे पर कस्बा गजनेर स्थित मुख्य चौराहे से गजनेर रायपुर मार्ग पर संचालित आटो स्टैंड बदस्तूर जारी है। हलाकि पूर्व थाना प्रभारी सुरजीत सिंह ने गजनेर थाने का पदभार ग्रहण करने के बाद उक्त आटो स्टैंड पर सिकंजा कसा था और चौराहे से ५०० मीटर दूर ले जाने के निर्देश दिए थे। पर उनके निर्देश के १० दिन बाद आटो स्टैंड वहीं पर संचालित होने लगा था और उनका स्थानांतरण भी हो गया था। जिससे मुख्य चौराहे पर आटो आडा तिरछा खडे होने के कारण वाहन चालकों को भीषण समस्या का सामना करना पडता है। यही नहीं बल्कि बाहरी वाहन चालकों को बेज्जती भी सहनी पडती है। ऐसा नहीं कि गजनेर पुलिस जानती न हो क्योंकि चौराहे पर लगने वाले पिकेट के जवान यह सब तमासा देख तमाशबीन बने रहते हैं। कस्बे के बुद्ध जीवियों ने बताया कि इस क्षेत्र में कई इण्टर कालेज व महाविद्यालय है। जहां छात्राओं का आना जाना रहता है। इसी के साथ आने जाने वाली महिलाओं को आटो चालकों की छीटाकसी का सामना करना पडता है। बताया जाता है कि अधिकांश चालक शराब के आदी है। और नशे की हालत में आटो भी चलाते हैं। पर यही नहीं बल्कि कई चालकों के पास ड्राइविंग लाइसेंस तक नहीं है। और कई नाबालिग चालक भी है। जो गजनेर पुलिस को सायद नहीं दिखाई दे रहे हैं। जब कि इस मार्ग पर बेहूदा चालकों के कारण कई मार्ग दुर्घटनाएं हो चुकी है। और कई लोग अपनी जान गवां बैठे है। कस्बे के कुछ लोगों का मानना है कि पुलिस और आटो स्टैंड संचालकों की सांठगांठ है। जिसके चलते माननीय मुख्यमंत्री के निर्देश हवा हवाई साबित हो रहे हैं और उनका अभियान हवा हवाई साबित हो रहा है। कुछ भी हो पर गजनेर रायपुर मार्ग पर अराजकता का माहौल बताया जाता है। इस संबंध में नवागंतुक गजनेर थाना प्रभारी प्रमोद कुमार शुक्ला से संपर्क करना चाहा पर नेटवर्क प्राबलम के कारण संपर्क नहीं हो सका है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments