रविवार, जुलाई 14, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमउत्तर प्रदेशफतेहपुरएकारी गाँव में निशुल्क नेत्र शिविर में आंखों की जांच के बाद...

एकारी गाँव में निशुल्क नेत्र शिविर में आंखों की जांच के बाद आपरेशन के लिए भेजा

श्रीराम अग्निहोत्री न्यूज़ समय तक ब्यूरो फतेहपुर

फतेहपुर,, हसवा विकास खंड क्षेत्र के अन्तर्गत एकारी गाँव के श्री महादेव इंटर कालेज में परिसर में निशुल्क नेत्र शिविर का कैंप लगाया गया। जहाँ दूरदराज गावों से आएं मरीजों के आंखों की जांच किया गया। जिससे बड़ी संख्या में गांव- गाँव लोग अपनी अपनी आंखों को देखने के लिए पीड़ित महिला और पुरुष एवं बच्चें जांच के लिए नेत्र शिविर कैंप में दो सौ मरीजों की आंखों की जांच हुई। जिसमें सौ मरीजों को जांच के बाद दवाएँ वितरण किया। और पच्चासी मरीजों का मोतियाबिंद का आपरेशन करने के लिए निशुल्क वाहन से चित्रकूट अस्पताल में भेजा गया।

विकास खंड क्षेत्र के अन्तर्गत सोमवार को एकारी गाँव के श्री महादेव इंटर कॉलेज में विगत वर्षों की भांति इस बार भी विशाल नेत्र शिविर कैंप लगाया गया।मुख्य अतिथि प्रबंधक नरेंद्र कुमार प्रजापति नेत्र शिविर फीता काट कर शुभारम्भ किया। नेत्र शिविर कैंप में स्वयं प्रबंधक ने अपनी आँखों की जांच पड़ताल करवाया। वही शिक्षिकाओं और शिक्षकों ने अपनी अपनी आँखों की जांच करवाया। दर्जनों गांवों के मरीज अपनी अपनी आंखों की जांच के लिए सैकड़ों मरीजों की संख्या मैहजूद हुई। डा. विनय अग्रहरि बारी- बारी से वृद्ध महिलाएं और पुरूषों के आलवा बच्चे और विधालय के बच्चों ने अपनी अपनी आँखों की जांच करवाया। नेत्र शिविर में दो सौ मरीजों ने अपनी अपनी आँखों की जांच करवाया। जिसमें सौ मरीजों को नेत्र की जांच करने के बाद दवाएँ वितरण किया गया।वही पच्चासी मरीजों को मोतियाबिंद के आपरेशन के लिए सतगुरु नेत्र हास्पिटल चित्रकूट में भर्ती कराया गया है। चिकित्सालय की ओर से मरीजों को भेजने के निशुल्क वाहन से भेजा गया है। और अस्पताल की ओर से मरीजों को भोजन की व्यवस्था निशुल्क किया जाता।आपरेशन होने के बाद मरीजों को 3 से 4 दिन में मरीजों की वापस लाया जाता है। इस मौके पर डा. जानकी गर्ग, काउसलर, रामसिंह। सहयोगी, शिवम सिंह, बिहारी विश्वकर्मा,वही शिक्षकों में प्रधानाचार्य रामबाबू मौर्य, सतोष कुमार, धर्मेन्द्र कुमार, जयप्रकाश, मनोज कुमार, सपना श्रीवास्तव, दीपिका तिवारी, सोनल शर्मा, बंदना, सलोनी सहित अन्य शिक्षक आदि शिक्षक मैहजूद रहे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments