शुक्रवार, फ़रवरी 23, 2024
spot_imgspot_imgspot_img
होमअनोखाआने वाले समय में अयोध्या में बड़े पैमाने पर निवेश के साथ...

आने वाले समय में अयोध्या में बड़े पैमाने पर निवेश के साथ ही रोजगार के अवसर सृजित होंगे – जयवीर सिंह

न्यूज ऑफ़ इंडिया (एजेन्सी)

न्यूज़ समय तक लखनऊ: 09 जनवरी, 2024

आगामी 22 जनवरी, 2024 को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा राम मन्दिर के लोकार्पण के पश्चात् जहां एक ओर देश-विदेश के करोड़ों राम भक्तों की बहुप्रतिक्षीत अभिलाषा पूरी होगी, वहीं दूसरी ओर अयोध्या समेत आस-पास के लगभग 06 जनपदों के आर्थिक परिदृश्य में बदलाव आने शुरू हो जायेंगे। क्योंकि भगवान श्रीराम के प्राण-प्रतिष्ठा के पश्चात अयोध्या में श्रद्धालुओं एवं दर्शनार्थियों की संख्या में कई गुना वृद्धि हो जायेगी। इससे होटल, टैक्सी, फूल-माला विक्रेता, रेस्टोरेंट, हस्तशिल्प, वस्त्र विक्रताओं समेत छोटे-मोटे व्यवसाय में लगे हुये सभी कारोबारियों को काम मिलेगा।
प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह आज विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में दिव्य एवं भव्य अयोध्या में होने वाली आर्थिक गतिविधियों एवं विभिन्न निर्माण से संबधित योजनाओं के बारे में प्रेस-प्रतिनिधयों को संबोधित कर रहे थे। उन्होने बताया कि राम मन्दिर के लोकार्पण के पश्चात अयोध्या में श्रेता युग एवं आधुनिकता का एक नया संगम देखने को मिलेगा। साथ ही अयोध्या के तेजी से विकास की सम्भावनाओं को देखते हुये बड़े पैमाने पर निवेश आने की संभावना है। इसका प्रभाव प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ेगा और लोगों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे।
जयवीर सिंह ने बताया कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल निर्देशन मे अयोध्या विश्व स्तरीय नगर बनने के मार्ग पर आगे बढ़ चुकी है। बड़े पैमाने पर निर्माण कार्य के साथ ही विश्व स्तरीय स्थापना सुविधायें सृजित की जा रही है। उन्होने बताया कि अयोध्या की सम्भावनाओं को देखते हुये देश के विभिन्न राज्यों तथा विदेशों से भूमि आवंटन की मांग की जा रही है। इसके अलावा साधु-संतों के लिये आश्रम, संस्थाओं के लिये जमीन की मांग की जा रही है। इसके लिये अयोध्या विकास प्राधिकरण को जमीन तलाशने की जिम्मेदारी दी गयी है।
जयवीर सिंह ने बताया कि अयोध्या में वर्ष 2022 में 02 करोड़ 39 लाख 10 हजार घरेलू पर्यटक तथा 1465 विदेशी पर्यटक और 2023 में सितम्बर तक 01 करोड़ 77 लाख 27 हजार पर्यटक आये, इसमें 1547 विदेशी पर्यटक भी शामिल है। लोकार्पण के बाद पर्यटकों की संख्या और बढेगी। इसलिये लोगों को ठहरने के लिये होटल तथा कमरों की जरूरत पड़ेगी। उन्होने बताया कि आगन्तुकों की सुविधा के लिये अयोध्या से जुड़ने वाले 06 जनपदों के प्रवेश मार्ग पर स्वागत द्वार, यात्री सुविधाये व काम्पलैक्सों का निर्माण के लिये 120.25 करोड़ रूपये की धनराशि जारी की गयी है।
इसके अलावा पर्यटन विभाग द्वारा 588.95 करोड़ रूपये एवं धर्मार्थ विभाग द्वारा 936 करोड़ रूपये की धनराशि से निर्माण कार्य कराये जा रहे है। उन्होने बताया कि अयोध्या में लगभग 02 करोड़ पर्यटक हर महीने आने की संभावना है। इसको देखते हुये मुख्यमंत्री ने अयोध्या को दिव्य एवं भव्य नगरी के रूप में स्थापित करने का निर्णय लिया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments

ए .के. पाण्डेय (जनसेवक )प्रदेश महा सचिव भारतीय प्रधान संगठन उत्तर भारप्रदेश पर महंत गणेश दास ने भाजपा समर्थकों पर अखंड भारत के नागरिकों को तोड़ने का लगाया आरोप